Mutual Fund Investment Online | Best Mutual Fund in India 2022

Mutual Fund Investment Online | Best Mutual Fund in India 2022
Mutual Fund Investment Online | Best Mutual Fund in India 2022

            Mutual Funds : हम सभी को जीने के लिए पैसे की जरूरत होती है। हम पैसे के बिना अच्छी तरह से नहीं रह सकते हैं। इसलिए हम जीवन में स्वस्थ होने तक धन के पीछे भागते रहते हैं। कुछ लोग एक दिन में मिलने वाले पैसे को उसी दिन खर्च कर देते हैं। कुछ लोग इसे रखते हैं और इसे भविष्य में ले जाते हैं। दूसरे उस पैसे का इस्तेमाल फिर से पैसा बनाने के लिए करते हैं। पहली श्रेणी के लोग कुछ समय बाद गरीब हो जाते हैं। क्योंकि उनके पास इमरजेंसी के लिए पैसे नहीं हैं। उनके पास जो कुछ है वह सब खर्च कर देते हैं। दूसरी श्रेणी के लोगों को अपने जीवन में कोई कठिनाई नहीं होगी। वे एक सामान्य व्यक्ति की तरह रहते हैं। जीवन में कोई विशेष अंतर नहीं हैं। तीसरी श्रेणी वे हैं जो अपने पैसे से फिर से पैसा बनाने की कोशिश करते हैं। ऐसे लोग सही रास्ते पर चलने पर अमीर बन जाते हैं। उनके जीवन में चुनौतियां आ सकती हैं। लेकिन अंत में उन्हें सफलता मिलती है |

            इस तरह के पैसे से पैसे कमाने में मदद करने के कई तरीके हैं। म्यूचुअल फंड ऐसे सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है। म्यूचुअल फंड शेयर बाजार पर निर्भर करता है। जो लोग शेयर बाजार और निवेश के बारे में नहीं जानते उनके लिए म्यूच्यूअल फण्ड सबसे अच्छा विकल्प है। आज लोग इसे बहुत पसंद करते हैं क्योंकि यह हमें लाभ और हानि की संभावना के बावजूद बचत और सावधि जमा से अधिक रिटर्न देता है|

अब देखते हैं म्यूच्यूअल फण्ड क्या होता है ? What is Mutual Funds in Hindi

            म्यूचुअल फंड एक पेशेवर रूप से प्रबंधित फंड है जो कई निवेशकों से सिक्योरिटीज खरीदने के लिए पैसा खींचता है। म्यूच्यूअल फण्ड उन लोगों का समूह है जो एक साथ बहुत सारा पैसा जुटाते हैं। म्यूचुअल फंड का यही मतलब है। यह उन लोगों के लिए एक बढ़िया विकल्प है जो निवेश में रुचि रखते हैं लेकिन निवेश के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होने से चिंतित हैं। हर म्यूचुअल फंड कंपनी का एक फंड मैनेजर होता है। वह वह है जो सभी के पैसे से निवेश करता है।

यह भी पढ़े-  ऑनलाइन पासपोर्ट कैसे बनाये | How to Apply Online Passport in India 2022

            एक फंड मैनेजर वह होता है जो बहुत ही पेशेवर होता है और शेयर बाजार में निवेश करने का अनुभव रखता है।  वह सारा दिन शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव का अध्ययन करने में बिताता है।  हम जो राशि देते हैं उसकी पहचान सही क्षेत्रों यानी स्टॉक इक्विटी, डेट फंड, बॉन्ड, सिक्योरिटीज आदि में की जाती है और हम पैसे का सही तरीके से निवेश करते हैं।  यह एक फंड मैनेजर का काम है।

            फंड मैनेजर अच्छे रिटर्न वाले एसेट क्लास की पहचान करता है और हमारे पैसे को विभिन्न एसेट क्लास में निवेश करता है।  इसमें निवेश किया गया पैसा नीचे जा सकता है या बढ़ सकता है।  लेकिन अगर आप लंबी अवधि के लिए निवेश करते हैं, तो आपने जो निवेश किया है उस पर आपको अच्छा रिटर्न मिलेगा। म्यूचुअल फंड लाभ और हानि के जोखिम के अधीन है।  लेकिन लंबी अवधि का चयन करते समय वे बहुत अच्छे होते हैं।

यह भी पढ़े : IPO क्या है? यह कैसे काम करता है | What is IPO in hindi

यह भी पढ़े : Cryptocurrency  क्या है? What is Cryptocurrency

म्यूच्यूअल फण्ड कितने प्रकार के होते है ?  वे क्या हैं? Types of Mutual Funds in India

Types of Mutual Funds in India
Types of Mutual Funds in India

            म्यूचुअल फंड कई तरह के होते हैं।  हमें अपने लक्ष्यों और वित्तीय स्थिति के अनुसार सही म्यूचुअल फंड चुनने की जरूरत है।  म्यूचुअल फंड को 3 कैटेगरी में बांटा जा सकता है, इक्विटी, डेट और हाइब्रिड।  शेयर बाजार में सीधे निवेश करना इक्विटी फंड कहलाता है।  डेट में निवेश करना डेट फंड कहलाता है।  दोनों के संयुक्त निवेश को हाइब्रिड फंड कहा जाता है।

इक्विटी म्यूचुअल फंड क्या है? Equity Mutual Funds

            इक्विटी फंड शेयर बाजार में प्रत्यक्ष निवेश है।  ये केवल शेयर बाजार पर ध्यान केंद्रित करते हैं।  इक्विटी फंड को पांच कैटेगरी में बांटा जा सकता है।  लार्ज कैप, मिड कैप, स्मॉल कैप, सेक्टोरियल फंड, मल्टी कैप।

            लार्ज कैप बड़ी कंपनियों में निवेश कर रहा है।  एचडीएफसी, इंफोसिस और एसबीआई सभी लार्ज कैप फंड में शामिल हैं।  लार्ज कैप फंड्स का सबसे बड़ा फायदा उनका लो रिस्क फैक्टर है।  क्योंकि वे स्थिर कंपनियां हैं।  इसलिए अचानक नुकसान होने की संभावना कम है आपको 10-15% का रिटर्न मिलेगा।  अन्य फंडों की तुलना में रिटर्न कम है लेकिन नुकसान का जोखिम कम है।  यह बचत और सावधि जमा से भी अधिक लाभदायक है।

            मिड कैप फंड उन फंडों को संदर्भित करता है जो विकास माध्यम में शामिल होते हैं।  कम समय में ये लार्ज कैप फंड में पहुंच जाएंगे।  मिड कैप फंड्स का रिटर्न लार्ज कैप फंड्स के मुकाबले ज्यादा होता है।हम इससे 12-16 फीसदी के रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं।  लेकिन ये लार्ज कैप फंडों की तरह स्थिर नहीं हैं।  इनके लिए जोखिम कारक अधिक है।

यह भी पढ़े-  आयुष्मान भारत Card 2022 रजिस्ट्रेशन | Online Apply Ayushman Bharat Yojana

            इसके बाद स्मॉल कैप फंड हैं।  स्मॉल कैप फंड में छोटी उभरती कंपनियां शामिल हैं।  उनके पास लार्ज कैप और मिड कैप की तुलना में अधिक रिटर्न है।  इसी तरह, जोखिम कारक बहुत अधिक है।इससे 20-25% रिटर्न की उम्मीद की जा सकती है।

            इसके बाद सेक्टोरियल फंड है।  सेक्टोरियल फंड ऐसे निवेश हैं जो केवल कुछ क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करते हैं।  यानी अगर आप किसी फार्मा कंपनी में निवेश करते हैं तो आप उसमें ही निवेश करते हैं।  इससे उच्च लाभ के साथ-साथ भारी नुकसान भी हो सकता है।  अंत में, मल्टी कैप फंड।  यह अब तक उल्लिखित सभी निधियों का मिश्रण है।  यह फंड शुरुआती लोगों के लिए बहुत अच्छा है।

डेबीटी फंड क्या है? Debt Fund Meaning in Hindi

डेबीटीफंड में सरकारी बॉन्ड, ट्रेजरी बिल और कॉरपोरेट बॉन्ड शामिल हैं।  यानी हम जो पैसा उधार देते हैं उससे हमें जो आमदनी होती है।  इसी तरह, जोखिम कारक कम है और 6-8% की वापसी की उम्मीद की जा सकती है।

हाइब्रिड फंड क्या है? Hybrid Fund Meaning in Hindi

हाइब्रिड फंड 70: 30 के निवेश अनुपात के साथ इक्विटी फंड और डेबिट फंड का मिश्रण है।  यह शुरुआती लोगों के लिए बहुत अच्छा है|

सबसे बेस्ट म्यूच्यूअल फण्ड कौन सा है? Best Mutual Funds to Invest in 2022

Best Mutual Funds to Invest in 2022
  1. केनरा रोबेको ब्लूचिप इक्विटी फंड : Canara Robeco Bluechip Equity Fund

भारतीय शेयरों में फंड का 96.18% निवेश है, जिसमें से 76.47% लार्ज कैप शेयरों में, 7.82% मिड कैप शेयरों में है।

 के लिए उपयुक्त: निवेशक जो कम से कम 3-4 वर्षों के लिए पैसा निवेश करना चाहते हैं और उच्च रिटर्न की तलाश में हैं। साथ ही इन निवेशकों को अपने निवेश में मामूली नुकसान की संभावना के लिए भी तैयार रहना चाहिए।

  • एक्सिस ब्लूचिप फंड : Axis Bluechip Fund

भारतीय शेयरों में फंड का 92.6% निवेश है, जिसमें से 79.97% लार्ज कैप शेयरों में है, 2.46% मिड कैप शेयरों में है।

 के लिए उपयुक्त: निवेशक जो कम से कम 3-4 वर्षों के लिए पैसा निवेश करना चाहते हैं और उच्च रिटर्न की तलाश में हैं।  साथ ही इन निवेशकों को अपने निवेश में मामूली नुकसान की संभावना के लिए भी तैयार रहना चाहिए।

  • मिराए एसेट लार्ज कैप फंड : Mirae Asset Large Cap Fund

भारतीय शेयरों में फंड का 98.74% निवेश है, जिसमें से 68.98% लार्ज कैप शेयरों में, 12.4% मिड कैप शेयरों में, 3.46% स्मॉल कैप शेयरों में है।

यह भी पढ़े-  Online PPF अकाउंट कैसे खोलें? Online PPF Account Opening 2022

 के लिए उपयुक्त: निवेशक जो कम से कम 3-4 वर्षों के लिए पैसा निवेश करना चाहते हैं और उच्च रिटर्न की तलाश में हैं।  साथ ही इन निवेशकों को अपने निवेश में मामूली नुकसान की संभावना के लिए भी तैयार रहना चाहिए।

म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें? How to Invest in Mutual Funds

How to Invest in Mutual Funds

    म्यूचुअल फंड में निवेश करना आसान है।

  1.  किसी भरोसेमंद म्यूचुअल फंड मैनेजर की मदद से अकाउंट के लिए साइन अप करें
  2. अपनी केवाईसी औपचारिकताएं पूरी करें (यदि आपने पहले ही ऐसा कर लिया है तो इस चरण को छोड़ दें)
  3. आवश्यक विवरण दर्ज करें
  4. अपने Financial Goals के आधार पर उन फंडों की पहचान करें जिन्हें आप निवेश करना चाहते हैं
  5. उपयुक्त फंड का चयन करें और राशि ट्रांसफर करें

            म्यूचुअल फंड का सबसे बड़ा फायदा डायवर्सिफिकेशन है। वे उस पैसे को निवेश करते हैं जो हम उन्हें कई एसेट क्लास में देते हैं। यानी अगर कोई हार भी जाए तो बाकी को थामे रह सकता है। पंद्रह साल बाद, राष्ट्रीय स्टॉक एक्सचेंज की वृद्धि औसत 12.5% ​​​​है। फिक्स्ड डिपॉजिट, सेविंग्स, गोल्ड ग्रोथ इन सब से ज्यादा है। दूसरा यह है कि निवेश कई लोगों के पैसे से किया जाता है। तो आप बड़ी राशि में निवेश कर सकते हैं। इससे रिटर्न बढ़ेगा। एक और फायदा यह है कि हम जो पैसा देते हैं उसका प्रबंधन पेशेवर रूप से किया जाता है। इसका प्रबंधन विशेषज्ञों द्वारा किया जाता है। लंबी अवधि के निवेश के लिए हमेशा सावधान रहें। वहीं से सबसे ज्यादा मुनाफा होता है। म्यूचुअल फंड के कुल ड्राबैक रिटर्न के एक हिस्से का भुगतान फंड मैनेजर की फीस के रूप में किया जाना चाहिए।

            म्यूचुअल फंड निवेश का एक बहुत ही लाभदायक तरीका है।  इसका उपयोग वे लोग भी कर सकते हैं जिन्हें शेयर बाजार या निवेश की अच्छी समझ नहीं है।  सरकार भी म्युचुअल फंड को काफी सपोर्ट करती है।  म्युचुअल फंड क्या है?  म्यूचुअल फंड के फायदे और नुकसान क्या हैं?  म्यूच्यूअल फण्ड कितने प्रकार के होते है ?.  म्यूचुअल फंड में कैसे करें निवेश?.  मुझे आशा है कि आप सभी इसे स्पष्ट रूप से समझेंगे।  इसमें विभिन्न म्यूचुअल फंड पेश किए गए हैं।  वह चुनें जो आपके लक्ष्यों और वित्तीय स्थिति के लिए सबसे उपयुक्त हो।  आप एक अच्छे वित्तीय स्तर तक पहुंच सकते हैं।

यह भी पढ़े : अटल पेंशन योजना की पूरी जानकारी : Atal Pension Yojana in Hindi

यह भी पढ़े : Credit SCORE क्या होता है | CIBIL Score Meaning in Hindi

Online Earning के Tips और YouTube Creator बनने के लिए मेरे YouTube चैनल Techno 4 India को Subscribe करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here