नरसिंह जयंती वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को मनाई जाती है।

इस दिन भगवान विष्णु ने अपने परम भक्त प्रह्लाद को राक्षस राजा हिरण्यकश्यप से बचाने के लिए नरसिंह का अवतार लिया था। उन्होंने इस अवतार में राक्षस का वध कर धर्म की स्थापना की।

बैरागी बने तो छूटे जग, संन्यासी बने तो छूटे तन, नरसिंह से जो प्रेम हो जाए, तो छूटे आत्मा के सब बंधन. नरसिंह जयंती 2022 की शुभकामनाएं 

जंगल में रहो या बस्ती में, लहरों में रहो या कश्ती में, भीड़ में रहो या अकेले में, सदा मस्त रहो नरसिंह की भक्ति में. नरसिंह जयंती की शुभकामनाएं 

आपको और आपके प्रियजनों को भक्ति, उपवास और उत्सवों से भरे खूबसूरत दिन के लिए नरसिंह जयंती की हार्दिक बधाई।